Saturday, June 12, 2021
Homeबिज़नेस हिन्दीचांद पर जाने के लिए दो अरबपतियों में टकराव, 22 पन्नों में...

चांद पर जाने के लिए दो अरबपतियों में टकराव, 22 पन्नों में अमेरिकी सरकार को दर्ज कराया विरोध

चांद पर जाने को लेकर दो अरबपति उद्यमी में टकराव का मामला सामने आया है। एक ने दूसरे के खिलाफ 22 पन्नों में अमेरिकी सरकार को विरोध दर्ज कराया है। वहीं तो दूसरे विरोध दर्ज कराने वालों से कहा कि रहने दो तुमसे नहीं हो पाएगा।

दुनिया (world ) के दो सबसे अमीर  जेफ बेजोस (jeff bezos)  और एलन मस्क (elon musk) चंद्रमा (moon) पर जाने की लड़ाई लड़ रहे है। मामला 22 हजार करोड़ रुपए के उस अनुबंध (contract) का है, जिसमें अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी  नासा (space agency nasa ) ने मस्क की कंपनी स्पेस एक्स को दिया है। इसके तहत स्पेस एक्स एक लैंडर बनाएगा। जिस पर सवार होकर अंतरिक्ष यात्री 2024 में चांद पर जाएंगे। इस प्रोजेक्ट के लिए स्पेस एक्स के अलवा दो और कंपनियों की बोली लगाई जाएगी। इसमें एक जेफ बेजोस की ब्लू ओरिजन शामिल है।

अमेरिकी सरकार को 50 पन्नों का विरोध कराया दर्ज
सोमवार को बेजोस की कंपनी ने नासा के इस फैसले के खिलाफ अमेरिकी सरकार को 50 पन्नों का विरोध पत्र सौपा है। ब्लू ओरिजन के चीफ आफि सर ने नासा ने गलत फैसला लिया है। नासा ने हमारे प्रस्ताव के फायदेमंद पहलूओं को नजरअंदाज कर दिया। बल्कि स्पेस एक्स की तकनीकी खामियों को भी नजरअंदाज कर दिया। मस्क ने सोशल मीडिया पर बेजोस को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि विरोध पत्र सौंपने के बाद अब वो चांद के ऑर्बिट तक भी नहीं पहुंच पाएंगे। यह आपके बस की बात नहीं है।

नासा चांद पर पहुंचने के लिए बनवाना चाहता है यान

नासा चांद पर पहुंचने के लिए यान बनवाना चाहता है। जिसके माध्यम से पहली बार कोई महिला और अश्वेत पुरुष चंद्रमा पर पहुंचेगा। 1972 के बाद अमेरिका ने किसी इंसान को चांद पर नहीं भेजा है। नासा के प्रशासक जिन ब्रिडेनस्टाइन ने कहा कि 2024 में चंद्रमा पर जाने को लेकर नासा की तैयारी बिल्कुल अंतिम चरण में है। मिशन का नाम है मिशन आर्टिमिस

चार सदस्य जाएंगे अंतरिक्ष की कक्षा में

साल 2024 में ओरायन नामक स्पेस क्रॉफ्ट में 4 सदस्य अंतरिक्ष की कक्षा में जाएंगे। यहां से दो यात्री स्पेस एक्स के यान में सवार होकर चंद्रमा की यात्रा पर निकल पड़ेंगे। योजना के अनुसार दो एक यात्री एक सप्ताह तक चंद्रमा की सतह का परीक्षण करेंगे। स्पेस एक्स के याद से ही वापस ओरायन तक पहुंचेगे। ताकि वह धरती पर लैंडिंग कर सके।

Stay Connected

259,756FansLike
345,788FollowersFollow
223,456FollowersFollow
33,456FollowersFollow
566,788SubscribersSubscribe

Must Read

Related News