Saturday, June 12, 2021
Homeएजुकेशनलकभी सड़क पर भीख मांगने को थे मजबूर, कड़ी मेहनत के बाद...

कभी सड़क पर भीख मांगने को थे मजबूर, कड़ी मेहनत के बाद मिला कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में पढ़ाई का मौका

चेन्नई के जयावेल एक समय में भीख मांगकर गुज़ारा चलाते थे| लेकिन जब उनकी ज़िंदगी में सुयम एनजीओ के संस्थापकों ने कदम रखा तब से उनकी जिंदगी बदल गई| आज वह अपनी मेहनत से विदेश में पढ़ाई कर रहे हैं|

कहते हैं न कि यदि आप कुछ कर दिखाने की लगन रखते हैं तो लाख मुश्किलों के बाद भी आप अपनी मंज़िल तक पहुँच ही जाते हैं| आज हम आपको एक ऐसे ही शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी ज़िंदगी कठिनाइयों से भरी हुई थी लेकिन उसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और सफलता के मुकाम को हासिल कर लिया| यह शख्स जो कभी सड़कों पर भीख मांगने के लिए मजबूर था अब वह बड़े-बड़े देशों में पढ़ाई कर रहा है| यह सब इस शख्स की मेहनत और किस्मत का कमाल है| आज जयावेल की कहानी अनेकों लोगों को प्रेरणा दे रही है| आइए आपको बताते हैं जयावेल की कहानी विस्तार से|

बहुत ही प्रेरणादायी कहानी है जयावेल की

यह कहानी चेन्नई(Chennai) के रहने वाले जयावेल(Jayavel) की है| आज जयावेल की कहानी लोगों के बीच तेजी से वायरल हो रही है और कारण है जयावेल की मेहनत और लगन| जयावेल जो एक समय में सड़कों पर भीख मांगने के लिए मजबूर थे आज जयावेल बड़े-बड़े देशों में जाकर पढ़ाई कर रहे हैं| जयावेल की कहानी उन लोगों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बन चुकी है जो लोग परिस्थितियों के आगे अपने घुटने टेक देते हैं और हार मान लेते हैं|

बचपन में ही हो गया था पिता का निधन, टूटा दुखों का पहाड़

दरअसल बचपन में 3 वर्ष की आयु में ही जयावेल ने अपने पिता को खो दिया था| जयावेल तीन भाई–बहनों में सबसे बड़े हैं इसलिए ज़िम्मेदारी भी उन्हीं पर थी चूंकि पिता के निधन के बाद जयावेल की माँ ने शराब पीना शुरू कर दिया जिससे वह घर भी नहीं चला पाईं| जिसके कारण जयावेल और उनके भाई बहनों को सड़क पर भीख मांगना पड़ा| भीख मांगकर ही जयावेल अपने घर का जैसे तैसे गुज़ारा चलाते थे|

फिर आया ज़िंदगी में बड़ा बदलाव

जब जयावेल ने भीख मांगना शुरू किया तो उनकी मुलाक़ात सुयम एनजीओ के संस्थापक उमा जी और मुथुराम जी से हुई| उमा जी और मुथुराम जी जयावेल की ज़िंदगी में फरिश्ता बनकर आए और जयावेल की ज़िंदगी को बदलकर रख दिया| एनजीओ की ओर से तीनों भाई बहनों का दाखिला मॉन्टेसरी  स्कूल में करा दिया गया और तीनों भाई बहन जमकर मेहनत करने लगे| जयावेल ने फिर कभी उस नर्क जैसी ज़िंदगी में पीछे मुड़कर नहीं देखा|

यूनाइटेड किंगडम की यूनिवर्सिटी में हुआ दाखिला

जब जयावेल ने 12वीं पास की तो उसके बाद उन्होंने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा में भाग लिया और वह इस परीक्षा में पास भी हो गए| जिसके बाद वह कार से जुड़े किसी कोर्स की पढ़ाई करने लगे| इसके बाद भी यह सिलसिला खत्म नहीं हुआ| जयावेल ने यहाँ से पढ़ाई पूरी कर फिलिपीन्स में विमान मेंटीनेंस टेक्नालजी से जुड़े कोर्स में दाखिला लिया और आज वह उसी की पढ़ाई कर रहे हैं|

लोन चुकाने के बाद करेंगे स्ट्रीट चाइल्ड के लिए काम

मीडिया से बातचीत के दौरान जयावेल ने कहा कि वह अपनी पढ़ाई के लोन को चुका कर सबसे पहले अपनी माँ के लिए एक घर बनवाएंगे और उसके बाद भीख मांगने वाले बच्चों के भविष्य को सुधारने में अपना पूरा पैसा लगा देंगे| साथ ही वह कहते हैं कि वह खुद को सुयम एनजीओ के लिए पूरी तरह से समर्पित कर देंगे| क्यूंकि आज वह जो भी हैं सिर्फ इसी एनजीओ के कारण हैं|

Stay Connected

259,756FansLike
345,788FollowersFollow
223,456FollowersFollow
33,456FollowersFollow
566,788SubscribersSubscribe

Must Read

Related News