Friday, June 11, 2021
Homeमोटिवेशनल स्टोरीजचेन्नई की इस बच्ची ने रचा इतिहास, महज़ साढ़े तीन साल की...

चेन्नई की इस बच्ची ने रचा इतिहास, महज़ साढ़े तीन साल की उम्र में बनाया आर्चर का वर्ल्ड रिकॉर्ड

भारत से आए दिन हैरान कर देने वाली खबरें आती ही रहती हैं| यह खबरें सोशल मीडिया पर भी तेजी से वायरल होती हैं| ऐसी ही एक खबर आज हम आपको बताने जा रहे हैं जिसमें महज साढ़े तीन की बच्ची ने इतिहास रच दिया है| जिस उम्र में बच्चे बोलना, लिखना और पढ़ना सीखते हैं उस उम्र में इस बच्ची ने वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है| आज यह बच्ची बिना रुके खुद का, अपने माता-पिता का और पूरे देश का नाम रोशन कर रही है| आज लोग इस बच्ची के फैन बन चुके हैं| आइए विस्तार से बताते हैं आपको चेन्नई की इस होनहार बच्ची संजना की कहानी, जो आज सोशल मीडिया पर बहुत फेमस हो रही है|

चेन्नई की रहने वाली हैं संजना

कहानी है चेन्नई की रहने वाली संजना की जिसने आज अपने हुनर से सभी को हैरान कर दिया है| आज संजना के हुनर की हर कोई जमकर तारीफ कर रहा है| बता दें कि संजना देश की फेमस आर्चर हैं जो बेहतरीन तीरंदाज़ी करती हैं| यह काम वह बहुत पहले से करती आ रही हैं| आज 5 साल की उम्र में वह अपने हुनर के कारण लोगों के बीच काफी फेमस हो चुकी हैं| संजना आज तीरंदाज़ी में बड़े-बड़े आर्चर को धूल चटा रही हैं| इतनी कम उम्र में संजना अनेकों अवार्ड भी अपने नाम कर चुकी हैं|

Little Archer
फोटो-ANI

महज साढ़े तीन साल की उम्र में रचा इतिहास

आपको जानकर हैरानी होगी कि संजना ने महज साढ़े तीन साल की उम्र में इतिहास रच दिया है| संजना ने इतनी कम उम्र में गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी अपना नाम दर्ज करा लिया है| साथ ही वह आज भारत की सबसे कम उम्र की पहली आर्चर हैं जिनका नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है| इस रिकॉर्ड के लिए संजना ने साढ़े तीन घंटे लगातार 1111 तीरों का निशाना लगाया था| हर घंटे में वह सिर्फ 5 मिनट का आराम लेती थी|

Sanjana's Coach
फोटो-ANI

ओलंपिक में जीतना चाहती हैं गोल्ड मेडल

संजना ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि वह तीरंदाज़ी करते वक़्त बिल्कुल नहीं थकती हैं और अब वह अधिक मेहनत के साथ ओलंपिक में देश के लिए गोल्ड मीडिया जीतना चाहती हैं| उनके कोच का कहना है कि संजना में ओलंपिक में जाने और जीतने के सारे गुण हैं इसलिए संजना को जो भी मदद चाहिए होगी वो सरकार को करनी चाहिए| बता दें रिकॉर्ड बनाते वक़्त लगभग 200 बच्चे संजना का समर्थन कर रहे थे और उनका हौंसला बढ़ा रहे थे|

Stay Connected

259,756FansLike
345,788FollowersFollow
223,456FollowersFollow
33,456FollowersFollow
566,788SubscribersSubscribe

Must Read

Related News